a href="http://hindiblogs.charchaa.org" target="_blank">हिंदी चिट्ठा संकलक

Monday, 10 December 2012

यादें...बड़े काम की चीज!


यादें...बड़े काम की चीज!

कुछ यादें तो होती है...बड़ी रंगीन...
इन्हें संजोकर रखना है बड़ा कठीन...
दिल के किसी कोने में दबा कर रखना...
कभी कभी फुर्सत में इन्हें दिन का उजाला दिखलाना...
या रात के अँधेरे में चाँद की रोशनी दिखलाना....
कही दूर ना चली जाए इसलिए...
सहलाना..बहलाना..थपथपाना..
दिल से लगा कर प्यार के...
मस्ती भरे दो घूंट पिलाना...

यादे हमारे लिए होती है...
या हम यादों के लिए होते है...
इसका फैसला कर चुकी होती है कुदरत...
यादों के सहारे हमें जिन्दा रखे होती है कुदरत...
यादें उस महल की खँडहर होती है...
जो महल बनने वाला था..पर बना नहीं...
यादें वह उजड़ा गुलशन होती है....
जिसमें बहार आनी थी...पर आई नही...

फिर भी यादें हमें सुख देती है दो घड़ी का...
आस बंधाती है...आने वाले सुनहरे कल का...
जोश जगाती है..नया महल खडा करने का...
सपने जगाती है,फिर नया गुलशन गुलजार करने का...

11 comments:

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत दिनों बाद आपने कुछ लिखा है .... चलिये याद तो आई .... और यह याद ही है जो करीब बनाए रखती है .... सुंदर प्रस्तुति

Aruna Kapoor said...

...यादे हंमेशा जोड़ने का काम करती है संगीता जी!..आप से यहाँ मिलकर मन बहुत प्रसन्न हुआ!

सदा said...

याद शब्‍दों में रूप व्‍यक्‍त करने में
विचार सोचने में निराकार कहने में प्रकार बताने में हर
गुजरा पल
बहुत ही अच्‍छी लगी आपकी यह प्रस्‍तुति

सादर

expression said...

आपका स्वागत है अरुणा जी....
आपको बहुत दिनों बाद दोबारा पढ़ कर दिल खुश हो गया...

सादर
अनु

Aruna Kapoor said...

...सदा जी और अनु जी...आप का साथ यहाँ हंमेशा बना रहे और हम सब साथ साथ चलतें रहे यही दिली इच्छा है!

Saras said...

यादें मरहम भी होतीं है ...टीस भी

दिगम्बर नासवा said...

यादें ... यादें ... यादें ...
इनका सहारा जरूरी है ...

Ankur Jain said...

यादें सच में बड़े काम की चीज होती हैं खासतौर पे तन्हाई में...बेहतरीन प्रस्तुति।।

Aruna Kapoor said...

सारस जी, दिगाम्बर जी और अकूर जी!...यादों की अहमियत को आपने सराहा...बहुत बहुत धन्यवाद!

वीना said...

यादें ही जीवन की विभिन्न कड़ियों को जोड़े रखती है...
सुंदर रचना...
. हमारे ब्लॉग जगत में बहुत से ऐसे बेहतरीन रचनाकार हैं जिनकी रचनाएं वास्तव में दिल को छूती हैं. नए रचनाकारों में भी प्रतिभावान हैं. बहुत से वो रचनाकार है जिनके लिए अपनी स्वयं की किताब छपवाना आसान नहीं होगा, हम चाहते हैं उन्हें एक प्लेटफार्म मिले और 2012 के दस्तावेज के रूप में यह काव्य संकलन हाथ में हो. जिनके मेल आ चुके हैं हम उनसे शीघ्र ही संपर्क करेंगे और जो भी शामिल होना चाहते हैं वो मुझे मेल आई डी और ब्लॉग लिंक जरूर मेल कर दें...मैं खुद भी अच्छे रचनाकारों की तलाश करूंगी. आपसे भी अनुरोध है कि ऐसे रचनाकारों के विषय में जानकारी दें.. जिससे काम शुरू कर सकूं...आपका सहयोग अपेक्षित है. मैं अपनी लम्बी कविताओं की किताब पर भी काम कर रही हूं...साथ ही अब इस पर भी काम शुरु करना चाहती हूं...विस्तार नीचे है....

कहानी ब्लॉग--
3000 शब्द की कहानी के लिए-- 5000 रु.
5000 ....................................... 7500...
6500......................................... 9000...
8000 तक के शब्दों की कहानी.....12000...

कविता ब्लॉग--
5 रचनाएं.............6000 रु.
6 से 10 रचनाएं.....9000...
इसमें आपको 25 प्रतियां दी जाएंगी.

जब रचनाओं का कार्य पूरा हो जाएगा तब आपको रुपयों के लिए सूचित कर दिया जाएगा. उसके बाद जो रायल्टी मिलेगी वो सभी रचनाकारों में बराबर-बराबर बांट दी जाएगी.

Aruna Kapoor said...

बहुत बढिया आयोजन है वीना जी!...कृपया आप का ई-मेल पता प्रदर्शित करें!